Posted on
Mohit

बीती छुट्टियाँ आई जुलाई, स्कूल खुले अब करो पढ़ाई।
देखो अपने साथ-साथ यह, कितने सारे संदेश लाई।,
मौज मस्ती के दिन बीते, मेहनत के अब दिन है आये।
नई क्लास है नई है किताबें, नए दोस्त तुमने है पाएं।
अब हर कदम मेहनत के तुम्हें, मंजिल तक पहुंचाएगें।
और एक दिन तुमको ये सब शिखर तक ले जाएँगे।
भूलो छुट्टियों की बातें, मन में न रखो कोई संदेह।
अब जुट जाओ लगन से, पढ़ाई का करो श्रीगणेश।
बीती छुट्टियाँ आई जुलाई, स्कूल खुले अब करो पढ़ाई।